सामाजिक न्याय आंदोलन, बिहार के भागलपुर इकाई की बैठक आज स्थानीय कला केंद्र में संपन्न हुई. निर्णय लिया गया कि बहुजन समाज की ओर से सामाजिक न्याय के एजेंडा को लोकसभा चुनाव, 2019 में पेश किया जाएगा, और इसके लिए अभियान चलेगा

बैठक में SC-ST एक्ट को प्रभावहीन बनाने के खिलाफ 2 अप्रैल 2018 को हुए ऐतिहासिक भारत बंद में शहीद 13 आंदोलनकारियों को श्रद्धांजलि दी गई.

बैठक में सामाजिक न्याय आंदोलन, बिहार के कोर कमिटी सदस्य रिंकु यादव ने कहा कि 2 अप्रैल 2018 के भारत बंद में मारे गए बहुजन आंदोलनकारियों के मामलों में न्याय का गला घोंटा जा रहा है. हत्यारों को छूट मिली हुई है.आज भी कई आंदोलनकारी रासुका के तहत उत्तर प्रदेश के जेलों में बंद हैं.

हज़ारों आंदोलनकारियों पर देश के विभिन्न हिस्सों में लादे गए झूठे मुकदमे की वापसी का सवाल बना हुआ है.

रामानंद पासवान और अंजनी विशु ने कहा कि 2 अप्रैल 2018 भारत बंद में मारे गए दलितों के मामलों में न्याय, मुआवजा और आंदोलनकारियों की रिहाई व लादे गए झूठे मुकदमों की वापसी के सवालों पर लोकसभा चुनाव में राजनीतिक पार्टीयां अपना स्टैंड स्पष्ट करे.

शंकर बिंद और अशोक कुमार गौतम ने कहा कि बहुजन समाज को जरूर ही वोट डालने से पहले इन सवालों पर उम्मीदवारों से स्टैंड पूछना चाहिए.

बैठक में सामाजिक न्याय आंदोलन, बिहार की राज्य कोर कमिटी द्वारा तय मुद्दों और चुनाव के दरम्यान  अभियान चलाने के फैसले और भागलपुर जिला में अभियान की रुपरेखा पर भी चर्चा की गई.

अभियान के प्रमुख बिंदु इस प्रकार होंगें –
१) सवर्ण आरक्षण को रद्द करना
२) अतिपिछड़ों-पिछड़ों का आरक्षण 52% करना
३) निजी क्षेत्र व न्यायपालिका में आरक्षण लागू करना
४) बैकलॉग भरने की गारंटी के साथ तमाम सरकारी रिक्तियों को भरना
५) जाति जनगणना कराने की मांग
६) अतिपिछड़ों के लिए उत्पीड़न निवारण कानून बनाने की मांग
७) SC, ST, व EBC के लिए विधानपरिषद व राज्यसभा में सीट आरक्षित करने की माँग
८) EBC के लिए विधानसभा व लोकसभा की सीटें आरक्षित करने की माँग
९) जल, जंगल, जमीन के कॉरपोरेट लूट पर रोक लगाने और बहुजनों को भूमि अधिकार देने की माँग
१०) सबको एकसमान शिक्षा-चिकित्सा की गारंटी देने की माँग
११) सफाईकर्मियों को स्थायी नौकरी देने की माँग
१२) दलित मुसलमान-ईसाई समुदाय को को SC सूची में  शामिल करने की माँग
१३) निजीकरण पर रोक लगाने की माँग
१४) अन्य सम्बंधित मांगें

इस सभी माँगो और मुद्दों के समर्थन में 14 अप्रैल, 2019, डॉ भीमराव अंबेडकर जयंती तक पूरे जिला में संपर्क अभियान चलाना तय हुआ.

बैठक में तय हुआ कि इन मुद्दों पर बहुजन- समाज को गोलबंद कर राजनीतिक पार्टीयों व उम्मीदवारों से स्टैंड पूछा जाएगा.

चुनाव में बहुजन समाज महज वोटर  बनकर नहीं रहेगा. बल्कि चुनाव में भी सामाजिक न्याय के एजेंडा पर अपनी सामाजिक -राजनीतिक दावेदारी को बुलंद करना जारी रखेगा.

बैठक में सोनम कुमार, मिथलेश विश्वास, अभिषेक आनंद, नंदन कुमार लाल , रघुनंदन दास, चंद्रशेखर, विजय कुमार दास, संजीव कुमार व अन्य मौजूद थे.