Category: Culture and Civilisation

भारतीय परम्पराओं को आर्य लेखकों ने विकृत किया: होरी/ होली के विशेष संदर्भ में- सुरेश प्रसाद

Read More

होलिका दहन और सती प्रथा में समानता: इतिहास और पुराण का स्त्रीवादी विश्लेषण- आँचल

Read More

महिला आंदोलन, पितृसत्ता और जाति में सम्बन्ध: एक नया आयाम डॉ. मुखत्यार सिंह

Read More

शर्मसार करती सवर्णवादी मीडिया की भूमिका की पड़ताल: सामाजिक न्याय की अनदेखी के लिए क्यों अभिशप्त है “मुख्यधारा” की मीडिया!

भारत की भ्रष्ट्र ब्राह्मणवादी-सवर्णवादी मीडिया की भूमिका की पड़ताल कर रहें हैं एच. एल. दुसाध। वे भाजपा के पक्ष में युद्ध उन्माद की विश्लेषण कर के साथ-साथ इसे राष्ट्रवाद की दृष्टि से भी देख रहें हैं.

Read More

भाजपा-जदयू के राज में अनुसचित जाति की लड़कियां सुरक्षित नहीं: कैमूर, बिहार की घटना

Read More

वर्ग-संघर्ष में हारी हुई बाजी पलटने का हथियार: डाइवर्सिटी साहित्य, विचार और अमल – एच. एल. दुसाध

Read More

उपासना के अधिकार में धार्मिक भेदभाव: नोएडा में भाजपा सरकार का चयनित भेदभाव – कनकलता यादव

कनकलता यादव सार्वजनिक स्थलों पर धार्मिक उपासना में भेद-भाव का मुद्दा उठा रहीं हैं. उन्होंने संविधान द्वारा प्रदत मौलिक अधिकारों का हवाला देते हुए कहा है कि राज्य धार्मिक आधार पर भेद-भाव नहीं कर सकती है. कनकलता के लेख का उद्देश्य यह नहीं है कि सभी सार्वजनिक स्थल धार्मिक उपासना के लिए हैं, लेकिन उनका कहना है कि सार्वजनिक स्थल के उपयोग में धार्मिक आधार पर भेद-भाव क्यों? उनका लेख पढ़े और अपनी प्रतिक्रिया दें – संपादक

Read More

क्या महात्मा गांधी नस्लवादी थे? घाना, अफ्रीका में उठता सवाल

Read More

The Socio-Economic Problem of Heavy Expenditure in Indian Marriage Anchal

Anchal is focusing on the thoughts of heavy expenditure and show off in Indian marriage. She is focusing on the Indian mentality and result of the heavy expenditure. As we know that because of this culture many parents have the force to take the loan from the money lender, family, friends and the bank. And the result is these many families are living a life under the loan repayment pressure. This culture is also led to many girls and family in depression. Read and critically comment on the article – Editor

Read More

JNU में मनाया जाएगा बाबासाहेब आंबेडकर का महापारिनिर्माण दिवस

Read More

धर्म संसद का एकमेव काट: डाइवर्सिटी संसद!

Read More
Loading