Category: Economy Market and Trade

बहुजन डाइवर्सिटी बनाम छद्म राष्ट्रवाद H. L. Dusadh

बहुजन डाइवर्सिटी बनाम छद्म राष्ट्रवाद पर H. L. Dusadh ने दर्शाया है कि बहुजन डाइवर्सिटी मिशन के एजेंडे के समक्ष छद्म राष्ट्रवाद तिनकों की भांति उड़ जायेगा। उन्होंने भोपाल घोषणापत्र और डाइवर्सिटी मिशन के असर की पर भी विस्तृत चर्चा की है. पढ़े और शेयर करें।

Read More

निजी क्षेत्र में आरक्षण की सीमाबद्धता समझें- एच. एल. दुसाध

सामाजिक न्याय की लड़ाई ऐसी हो गई कि आरक्षण को सभी समस्यायों का एकमात्र हल के रूप में देखा जाने लगा है. देश के सभी संसाधनों पर सभी का हक़ है इसलिए सबका प्रतिनिधित्व होना चाहिए लेकिन आरक्षण सभी समस्यायों का हल नहीं है। यह कहने की हिम्मत होनी चाहिए। आप पूरा लेख पढ़ें और आलोचनात्मक कमेंट करें। बहस को आगे बढ़ने के लिए इसे शेयर भी करें।

Read More

वर्ग-संघर्ष में हारी हुई बाजी पलटने का हथियार: डाइवर्सिटी साहित्य, विचार और अमल – एच. एल. दुसाध

Read More

चौधरी चरण सिंह के जयंती पर राष्ट्रीय लोक समता पार्टी के अध्यक्ष उपेंद्र कुशवाहा का पूरा भाषण

Read More

धर्म संसद का एकमेव काट: डाइवर्सिटी संसद!

Read More

झारखंड जनतांत्रिक महासभा का “झारखंड बचाओ देश बचाओ” पदयात्रा

Read More
Loading